महामृत्यु में अनुनाद । देवेश पथ सारिया

देवेश पथ सारिया की कविता महामृत्यु में अनुनाद

महामारी के दौरान भी हो रहे होंगे निषेचनबच्चे जो सामान्य परिस्थितियों में गर्भ में न आतेआएँगे इस दुनिया मेंकठिन काल में प्रेम की दस्तावेज़ बनकर बड़े होने पर वही बच्चेकिंवदंती की तरह सुनेंगेइस महामारी के बारे मेंऔर विश्वास नहीं करेंगे इस पर आज की काली सच्चाई का किंवदंती हो जानागहराता जाएगा आने वाली पीढ़ियों के …

महामृत्यु में अनुनाद । देवेश पथ सारिया Read More »